hello@mukhyansh.com

एक चिथड़ा सुख – निर्मल वर्मा : मुख्य अंश

●वह मार्च की हवा थी। उसमें कोई बोझ नहीं था, जैसा गर्मी के अंधड़ में होता है। वह धूल के साथ नहीं आई थी, स्वयं धूल उसका सहारा लेकर ऊपर उठी थी।

और पढ़ें

अंधा कुआँ – लक्ष्मीनारायण लाल : मुख्य अंश

पात्र ●भगौती●सूका●अलगू●राजी●इंदर●नन्दो●लच्छी●मिनकू काका●हरखू मौसिया●तेजई●मूरत●हीरा●रामदीन●जोखन नाटक का सारांश नाटक में भगौती नाम का व्यक्ति है

और पढ़ें

कोणार्क : जगदीशचन्द्र माथुर : मुख्य अंश

पात्र विशु- उत्कल राज्य का प्रधान शिल्पी और कोणार्क का निर्माताधर्मपद- एक प्रतिभाशाली युवक शिल्पीनरसिंह देव- उत्कल-नरेशराजराज चालुक्य- उत्कल-नरेश

और पढ़ें

समरेखा-विषमरेखा-(एकांकी) विष्णु प्रभाकर – मुख्य अंश

पात्र रेवा : बैरिस्‍टर की पत्‍नीकेशव : रेवा का पतिरंजन : रेवा का पूर्व मित्रजमना : बूढ़ी परिचारिकाहरि : सेवकडाकिया 

और पढ़ें

चारुमित्रा (एकांकी ) रामकुमार वर्मा : मुख्य अंश

प्रकाशन वर्ष- 1942स्‍थान : कलिंग का शिविरकाल : ईसा पूर्व 261 पात्र सम्राट अशोक : मगध के सम्राटतिष्‍यरक्षिता : सम्राट अशोक की रानीउपगुप्‍त : बौद्ध

और पढ़ें

सिपाही की माँ- मोहन राकेश- मुख्य अंश

पात्र- विशनी, मुन्नी, कुन्ती, दीनू , पहली लड़की, दूसरी लड़की, सिपाही कुछ बातें- मोहन राकेश इस एकांकी में दूसरे विश्वयुद्ध के समय सामान्य लोगों पर

और पढ़ें

मनोहर पोथी के वह लेखक जिन्हें लोग बिहार के द्विवेदी के नाम से जानते थे- सुजाता कुमारी

यह लेख बिहार के द्विवेदी कहे जाने वाले रामलोचन सरन पर है। जिन्होंने बालक और हिमालय जैसी पत्रिका का प्रकाशन किया था

और पढ़ें