hello@mukhyansh.com

अधूरा सपना- रहमत

यह कहानी दो उन ग़रीब बच्चों की है, जिनका सपना अंत तक अधूरा ही रहता है।जिनके ग़रीबी पर शक किया जाता है।जिनसे सपने देखने का हक़ भी छीन लिया जाता है।

और पढ़ें

बच्चे की बात : कंचन रॉय

कंचन रॉय शिवाजी कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय) की छात्रा हैं।उसने बच्चे के द्वारा एक माँ के मनोविज्ञान को इस कहानी में प्रस्तुत किया है।माँ कहानी

और पढ़ें